गोरखपुर के बच्चों के लिए खुशखबरी छुट्टियों से पहले शुरू होगा चिड़ियाघर

गोरखपुर। निमार्णाधीन चिड़ियाघर की प्रगति जानने मंगलवार को पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसे जून-2019 तक आमजन के लिए खोले जाने की बात कही। उन्होंने गोरखपुर के अपने दो दिनी दौरे के पहले दिन चिड़ियाघर के साथ ही निर्माणाधीन ऑडिटोरियम के कार्य का भी निरीक्षण किया। उन्होंने दोनों ही कार्यों को तय समय सीमा के भीतर पूरा करने का निर्देश दिया। सीएम योगी ने रामगढ़ताल वाटर स्पोर्ट्स कांप्लेक्स की प्रगति की जानकारी भी ली। चिड़ियाघर के निरीक्षण के दौरान उनके साथ प्राविधिक शिक्षामंत्री आशुतोष टंडन, विधायक फतेह बहादुर सिंह और संगीता यादव भी रहे।

चिड़ियाघर

निरीक्षण के बाद सर्किट हाउस पहुंचे मुख्यमंत्री ने बातचीत में कहा कि गोरखपुर का चिड़ियाघर पूर्वांचल और बिहार के आकर्षण का केंद्र होगा। यह बड़ों और बच्चों को प्रकृति से जोड़ने का माध्यम बनेगा। यहां आने वाले गोरखपुर के एतिहासिक और धार्मिक महत्व से भी परिचित होंगे। बताया कि चिड़ियाघर में 25 प्रजाति के करीब 250 पशु-पक्षी होंगे।
उन्होंने ऑडिटोरियम के भी जल्द तैयार हो जाने की बात कही। इसमें 1350 लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी। वहीं मीडिया रूम अलग से बनाया जा रहा है। रंग कर्मियों के लिए एमपी-3 थिएटर का निर्माण किया जा रहा है। जल्द ही उनके लिए कार्यशालाएं भी आयोजित की जाएंगी।

सीएम ने पूछा बब्बर शेर कहां रखेंगे, पर्याप्त जगह तो है?

गोरखपुर। चिड़ियाघर के निरीक्षण के दौरान सीएम ने हर एक बिंदु की बारीकी से जानकारी ली। अधिकारियों से उन्होंने पूछा, बब्बर शेर बब्बर शेर कहां रखेंगे, पर्याप्त जगह तो है? वन विभाग के अफसरों ने बताया कि नेशनल जू अथारिटी के मानक के अनुसार प्रति शेर के रहने के लिए 1250 वर्ग फिट और उसके घूमने के लिए 2750 स्क्वायर फिट जगह दी गई है। इस चिड़ियाघर में शेर के तीन जोड़े रखे जा सकते हैं। सीएम ने कहा कि शहरी इलाकों में लोगों का प्रकृति, पशु-पक्षियों से जुड़ाव कम हो गया है। चिड़ियाघर ऐसा बनाएं कि इनसे जुड़ाव महसूस करें। इस दौरान प्रमुख सचिव पवन कुमार ने चिड़ियाघर की विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत की।

अवैध शिकार के आरोप में पकड़े गए रंधावा, हिरण की खाल बरामद

‘जहां से जरूरत हो, मंगाएं पशु’

चिड़ियाघर के अधिकारियों ने गैंडे की उपलब्धता पर संशय जताया तो सीएम ने कहा कि गैंडे पटना या असम मंगाए जा सकते हैं। जहां से जरूरी हो प्रस्ताव बनाएं, सरकार अपने स्तर से बात कर गैंडे मंगवाएगी।

डेढ़ किलोमीटर पैदल चल लिया जायजा

रामगढ़ताल के पास 121 एकड़ में बन रहे चिड़ियाघर के निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री करीब डेढ़ किलोमीटर पैदल ही चले। जानवरों के बाड़ों, कैफेटेरिया, वेट लैंड एरिया, पक्षियों की जगह आदि के बारे में विस्तृत जानकारी ली फिर चिड़ियाघर से रवाना हो गए।

मुखबिर की सूचना पर पकड़ी गई करोड़ों की चरस, 2 तस्कर गिरफ्तार

कर्मचारियों के लिए बनेंगे आवास

निर्माणाधीन चिड़ियाघर के निरीक्षण के दौरान कार्यदायी संस्था राजकीय निर्माण निगम के प्रोजेक्ट मैनेजर डीबी सिंह ने मुख्यमंत्री को निर्माण कार्यों की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि चिड़ियाघर परिसर में कर्मचारियों के लिए कॉलोनी भी बनाई जाएगी। सीएम ने निर्माण कार्य पर संतुष्टि जताते हुए काम में और तेजी लाने को कहा।

 

=>
LIVE TV