अपनाएं वास्तु के ये नायाब उपाय, खाली तिजोरी हो जाएगी मालामाल

आज के समय में कोई कुछ भी कहें, पैसे बचाना एक कला है क्योंकि कमाना जितना मुश्किल, बचाना उतना ही कठिन है। जिस तरह मशीन को चलाने के लिए तेल की जरूरत होती है, वैसे ही जीवन चलाने के लिए धन की जरूरत है। वॉरेन बफेट को दुनिया पैसा खींचने वाला चुंबक कहती है।

उनका मानना है कि अगर आप उन चीजों को खरीदतें

खाली तिजोरी

हैं, जिनकी आपको बिल्कुल ही जरूरत नही है, तो जल्द ही आपकों उन चीजों को बेचना पड़ेगा। कई बार देखा गया है कि हम कमाते बहुत हैं, लेकिन फिर भी धन को बचाकर नहीं रख पाते हैं, जिस कारण आपका बजट बिगड़ सकता है।

वास्तुशास्त्र में कुछ सामान्य उपाय बताए गए हैं, जिन्हें आजमाने से आकस्मिक खर्चों में कमी आती है और धन का कोष बढ़ने लगता है। आइए जानते है वास्तुशास्त्र के ऐसे अचूक उपायों के बारे में जो आपके धन को बचाने और बढ़ाने में मददगार साबित होंगे…

अक्सर हम अपने घरों में टूटे-फूटे बर्तन एवं कबाड़ को जमा करके रखते हैं, जो कि एक बड़ा वास्तुदोष होता है। इसी तरह कई लोग कंजूसी के चलते टूटे-फूटे बर्तन का ही इस्तेमाल करते हैं। धन की दृष्टि से वास्तुशास्त्र में यह सबसे बड़ा दोष माना गया है।

इन सपनों को दिखाकर युवाओं को बनाया जाता है आतंकी, महिलाओं के साथ का आनंद है मुख्य

इस वास्तुदोष के कारण आपके घर में लक्ष्मी नहीं ठहरती हैं। नतीजतन, आप धन तो कमाते हैं परंतु उसको जमा नही कर पाते हैं। इसी तरह टूटा हुआ बेड एवं पलंग भी घर में नहीं रखना चाहिए। बहुत से लोग घर की छत पर अथवा सीढ़ी के नीचे कबाड़ जमा करके रखते हैं, जो वास्तुशास्त्र में धन वृद्धि का सबसे बड़ा बाधक माना जाता है।

अगर आप अपने धन में वृद्धि चाहते हैं, तो अपनी तिजोरी या लॉकर को घर के दक्षिण पश्चिम हिस्से में रखें। वास्तु के अनुसार इस स्थान को लक्ष्मी का स्थान माना गया है। धन के संचय और वृद्धि के लिए दक्षिण-पश्चिम हिस्से को शुभ और लाभकारी माना गया है। लेकिन ध्यान रहे कि घर की इस दिशा में कोई गढ्ढा या खिड़की नही होनी चाहिए।

धन की दृष्टि से घर के नलों से पानी टपकने को बहुत बड़ा वास्तुदोष माना गया है। अमूमन लोग इस दोष को अनदेखा कर देते हैं। नल से लगातार पानी टपकना यह संकेत करता है कि आपका धन धीरे-धीरे खर्च होता जा रहा है। इस वास्तु दोष को अपने जीवन में आर्थिक संकट का कारण बनने न दें और शीघ्र ही खराब नल को सही करवाएं या उसे बदल दें।

बांगरमऊ में बड़ा सड़क हादसा, महंत जगतगुरु हंसदेवाचार्य जी ने अस्पताल में तोड़ा दम

प्रात:काल बगैर नित्यक्रिया और पानी से कुल्ला किए चाय आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। यदि आप चाहते हैं कि मां लक्ष्मी का निवास आपके घर में हमेशा बना रहे तो कभी भी भूलकर जूठे हाथों से गौ, अग्नि और ब्राह्मण का स्पर्श न करें।

धन की वृद्धि के लिए अपने घर के ईशान कोण (उत्तर- पूर्व दिशा) में पवित्र नदियों जैसे गंगाजल आदि किसी शुद्ध पात्र में रखें। इस उपाय को करने से घर में सुख-शांति बनी रहती हैं और मां लक्ष्मी की कृपा से धन में वृद्धि होती है।

=>
LIVE TV