Sunday , August 20 2017

यूपी में बहा मुसलमानों का खून, मां-बहनों का हुआ बलात्कार, अब मांग रहे वोट

मुजफ्फरनगर। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (ऐआईएमआईएम) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पड़ोसी शामली जिले के कैराना से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए प्रचार शुरू किया। यहां पर एक बार फिर ओवैसी ने अपने जहरीले भाषणों से लोगों को बहकाया।

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि समाजवादी पार्टी में किसी को भी 2013 में हुए मुजफ्फरनगर दंगों में बहाए गए मुसलमानों के खून की पर्वाह नहीं है। वहीं ओवैसी ने चुनौती देते हुए कहा कि किसी माई के लाल में दम है जो मुझे यूपी आने से रोक सके, यूपी किसी के बाप का नहीं है।

ओवैसी ने आगे कहा कि शामली में लूटा जा रहा है, दादरी में मुसलमानों को मार दिया, मुजफ्फरनगर में मां-बहनों का हुआ बलात्कार मगर किसी ने मदद नहीं की।  उन्होंने आगे कहा “इन्होंने क्या किया…? पांच लाख लेलो, 15 लाख लेलो… मुसलमानों के खून की कीमत बस इतनी है। इसलिए इस बार चुनाव में आप अपनी पार्टी को वोट करें।”

अपने विवादित बयानों के लिए जाने जाने वाले ओवैसी ने राज्य में लोकप्रिय राजनीतिक दलों, विशेष रूप से सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा कि वे ‘‘सिर्फ चुनावों के दौरान ही अल्पसंख्यकों के अधिकारों की वकालत करते हैं।’’ यहां एक चुनावी रैली में एआईएमआईएम प्रमुख ने कहा कि सभी दलों ने उत्तर प्रदेश में अल्संख्यकों, पिछड़ा वर्ग और वंचित तबके के महज वोट बैंक के रूप में देखा है।

=>
=>
LIVE TV