Wednesday , September 20 2017

उत्तराखंड में भारी भूस्खलन से यातायात सेवा बाधित

उत्तराखंडदेहरादून: उत्तराखंड में मौसम अपना रूख बदलते हुए नजर आ रहा है। भारी बारिश के बाद अब माहौल कुछ और ही बन रहा है। भूस्खलन के कारण सड़कों पर मलबा आने से यातायात बाधित हो रहा है। वहां रहने वाले लोग कभी बाढ़ से तो कभी भूस्खलन से उनकी परेशानियां हमेशा बरकरार है। ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी करीब 100 संपर्क मार्ग बंद हैं। लोक निर्माण विभाग के अनुसार बीते 15 दिन में लगातार हो रही बारिश से करीब नौ सौ से ज्यादा सड़कें बंद हुईं थीं। इनमें से आठ सौ खोल दी गई हैं। दूसरी ओर मलबा आने से बदरीनाथ के पास लामबगड़ में यातायात ठप हो गया। साथ ही टंगणी में भी सड़क बंद हो गई। पत्थर गिरने के कारण बदरीनाथ हाईवे पर आवाजाही रोक दी गई।

पिथौरागढ़ के मालपा में प्रशासन का सर्च अभियान जारी है। एक सप्ताह पहले बादल फटने से मालपा और घटियाबगड़ में सेना का ट्रांजिट कैंप ध्वस्त होने के साथ ही जबरदस्त नुकसान हुआ था। हादसे में तीस लोग लापता चल रहे हैं। हालांकि इन लापता लोगों की तलाश की जा रही है, लेकिन अब मिलने की उम्मीदें कम हो चुकी हैं।

यह भी पढ़े- आज ही निपटाएं बैंक का काम, मंगलवार को होगी हड़ताल

मालपा में एनडीआरएफ, एसएसबी, राजस्व पुलिस और पुलिस लापता लोगों की खोज में जुटे हैं। वहीं मालपा से नजंग तक के रास्तों की मरम्मत का कार्य भी जारी है।

प्रशासन के अनुसार सप्ताहभर तक सर्च अभियान जारी रहेगा। इसके अलावा मार्ग क्षतिग्र्रस्त होने से पिथौरागढ़ जिले की व्यास और दारमा घाटी का जिला मुख्यालय से संपर्क कटा हुआ है।

मौसम विभाग के अनुसार अगले 24 घंटों में भी मौसम के तेवर ऐसे ही रहेंगे। इस दौरान कहीं-कहीं हल्की बारिश हो भी सकते हैं।

=>
LIVE TV