इस देश में शाही कुत्ते का अपमान करने पर मिलती है मौत की सजा, जानें क्यों है ये इतना खास…

थाईलैण्ड के राजा भूमिबोल अदुल्य देज का प्यारा कुत्ता है। इसका नाम है थोंगदियेंग। थाईलैण्ड में इस शाही कुत्ते का नाम भी कोई नहीं ले सकता। हर किसी को इसे ‘खुन’ बोलना होता है।

लेकिन हाल ही में एक व्यक्ति पर इसकी बेइज्जती का आरोप लगा है और उसे इसके लिए 37 साल की कैद और मशक्कत यानि रायगर इंप्रिजनमेंट भी हो सकती है।

अजब गजब

थाई पुलिस ने तानाकोरन नाम के एक फैक्ट्री वर्कर को शाही कुत्ते की बेइज्जती के आरोप में मिलिट्री कोर्ट के सामने पेश किया।

तानाकोरन पर आरोप है कि उसने सोशल साइट पर शाही कुत्ते पर बनी एक एनीमेटेड फिल्म एक व्यंग्य के साथ सोशल साइट पर पोस्ट की है।

हालांकि पुलिस ने तानाकोरन का केस मजबूत करने के लिए कुछ और भी आरोप लगाये हैं। जिन पर अभी बहस होना बाकी है।

तानाकोरन के वकील एनॉन नुम्पा ने कहा कि आरोपों में कुत्ते की बेइज्जती का आरोप शामिल करना बहुत अजीब है।

जिताऊ उम्मीदवार को ही मिलेगा टिकट , जल्द होगी स्थिति साफ- बीजेपी

लेकिन क्या करें मिलिट्री रूल में कुछ भी नहीं कहा जा सकता। क्योंकि थाईलैण्ड में सरकारी फैसलों और नीतियों के खिलाफ बोलना तो दूर सोचना भी अपराध है।

दरअसल थाईलैण्ड में गंभीर उथल-पुथल होने के राजा भूमिबोल ने सत्ता अपने हाथ में ले ली है।

ऱाजा भूमिबोल सेना के सर्वोच्च कमांडर हैं। सेना ने फरमान निकाल दिया है कि राजा और राजपरिवार के सम्मान को ठेस पहुंचाने वाले देश द्रोही माने जायेंगे।

थोंगदियेंग भी राजपरिवार के सदस्य जैसा ही है, इसलिए उसकी बेइज्जति भी राजपरिवार की बेइज्जती मानी जायेगी।

=>
LIVE TV